डिजिटल डेस्क, देहरादून। त्रिवेंद्र सिंह रावत के इस्तीफा देने के बाद तीरथ सिंह रावत को उत्तराखंड की कमान सौंपी गई है। तीरथ सिंह रावत ने आज (10 मार्च,2021) राज्य के 9वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। इस मौके पर तीरथ सिंह रावत ने अपनी पहली प्रतिक्रिया में कहा कि वह जनता के विश्वास पर खरा उतरने की कोशिश करेंगे।

शाम 4 बजे राजभवन में आयोजित समारोह में राज्‍यपाल बेबी रानी मौर्य ने उन्‍हें सीएम पद की शपथ दिलाई। इससे पहले विधायक दल की बैठक में सभी विधायकों ने तीरथ सिंह रावत को सर्वसम्मति से अपना नेता चुना गया। शपथ ग्रहण समारोह में सरकार के मंत्री समेत अनेक बड़े नेता उपस्थित रहे। उत्तराखंड में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में रावत को सिर्फ एक साल का कार्यकाल मिलेगा। गौरतलब है कि त्रिवेंद्र सिंह रावत के खिलाफ लंबे समय से बीजेपी के अंदर ही विरोध के स्वर उठ रहे थे। बीजेपी के विधायक ही अपने मुख्यमंत्री से नाराज थे, जिसके चलते पार्टी हाई कमान को आखिरकार नेतृत्व परिवर्तन करना पड़ा और त्रिवेंद्र सिंह रावत की जगह अब तीरथ सिंह रावत को उत्तराखंड का मुख्यमंत्री बनाया गया है।

‘अटल जी से पाई प्रेरणा, सबको साथ लेकर चलूंगा’
मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद तीरथ सिंह रावत ने कहा- ‘मैं सबको साथ लेकर चलूंगा। मैंने RSS में सबको साथ लेकर चलने की ट्रेनिंग पाई है। मैंने पूर्व पीएम अटल जी के साथ कार्यकर्ता के रूप में काम किया। अटल जी ने हमारे साथ जमीन पर बैठकर खाना खाया। ट्रेन में तीसरी श्रेणी में यात्रा की इससे मुझे प्रेरणा मिली। मेरी सफलता में संघ से प्रेरणा मिली। पत्नी, माता पिता सबका हाथ है।’

यहां की खेती, पर्यटन को आगे बढ़ाना मेरी प्राथमिकता होगी
तीरथ सिंह ने कहा कि आम जनता को विश्वास में लेकर आगे बढ़ने का काम करूंगा। त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जो काम किया उनको लेकर आगे बढ़ूंगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चार धाम रोड प्रोजेक्ट और ऋषिकेश रेल परियोजना को आगे बढ़ाना है। उन्होंने कहा कि हम सब मिलकर काम करेंगे। जिनके लिए उत्तराखंड बना यहां की खेती, पर्यटन को आगे बढ़ाना मेरी प्राथमिकता होगी।

पीएम मोदी ने रावत को बधाई दी
वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीएम पद का शपथ लेने के बाद तीरथ सिंह रावत को बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट किया- ‘उत्तराखंड के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने पर बधाई। उनके पास लंबा प्रशासनिक और संगठनात्मक अनुभव है। मुझे विश्वास है कि उनके नेतृत्व में राज्य प्रगति की नई ऊंचाइयों को छूता रहेगा।’

कौन हैं तीरथ सिंह?
तीरथ सिंह रावत 9 फरवरी 2013 से 31 दिसंबर 2015 तक उत्तराखंड भाजपा के चीफ रहे हैं। इससे पहले चौबट्टाखाल विधानसभा से 2012 से 2017 तक विधायक रहे। वर्तमान में वह भाजपा के नेशनल सेक्रेटरी हैं। उनका जन्म 9 अप्रैल 1964 को पौड़ी गढ़वाल जिले में हुआ था। इससे पहले वे उत्तरप्रदेश भारतीय जनता युवा मोर्चा के उपाध्यक्ष भी रहे हैं। 1997 में यूपी से विधायक भी रह चुके है। वे उत्तराखंड के पहले शिक्षामंत्री रहे हैं। वर्तमान में वे पौड़ी गढ़वाल लोकसभा सीट से सांसद हैं।

तीरथ 1983 से 1988 तक राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रांत प्रचारक भी रहे हैं। इसके अलावा वे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (उत्तराखण्ड) के संगठन मंत्री और राष्ट्रीय मंत्री भी रहे। उन्होंने समाजशास्त्र में MA और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वे हेमवती नंदन गढ़वाल यूनिवर्सिटी में छात्र संघ अध्यक्ष और छात्र संघ मोर्चा (उत्तर प्रदेश) में प्रदेश उपाध्यक्ष भी रहे थे।

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.