नई दिल्ली
दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने वैक्सीन आवंटन और उस पर टैक्स को लेकर केंद्र सरकार और बीजेपी से तीखे सवाल पूछे हैं। उन्होंने केंद्र सरकार से पूछा कि जब राज्यों के लिए वैक्सीन नहीं है तो प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीन कहां से आ रही है? उन्होंने कहा कि केंद्र ने दिल्ली के युवाओं के लिए अप्रैल महीने में केवल 4.5 लाख और मई में केवल 3.67 लाख वैक्सीन दी और जून के लिए भी केवल 5.5 लाख डोज देने की बात कही है। केंद्र सरकार वैक्सीन पर कुंडली मारकर बैठी है। राज्य सरकार के लिए कहती है कि वैक्सीन नहीं है और प्राइवेट अस्पतालों को वैक्सीन दिलवा देती है। डिप्टी सीएम ने मांग की कि केंद्र सरकार को पारदर्शिता दिखाते हुए वैक्सीन की पूरी सप्लाई का डाटा सार्वजनिक करना चाहिए।

मनीष सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि एक ओर केंद्र सरकार वैक्सीन की कमी का हवाला देते हुए राज्यों को वैक्सीन उपलब्ध नहीं कर रही है, लेकिन दूसरी ओर प्राइवेट अस्पतालों को ज्यादा कीमतों पर वैक्सीन कैसे उपलब्ध करवा रही है। उन्होंने बीजेपी से पूछा कि महामारी में भी बीजेपी शासित कई राज्यों के वित्तमंत्री वैक्सीन से जीएसटी क्यों नहीं हटाना चाहते हैं? देश में महामारी से हाहाकार मचा हुआ है। केंद्र सरकार के कुप्रबंधन से भारत में वैक्सीन की कमी हो गई है, जिससे राज्यों को अपने यहां 18-44 आयुवर्ग के युवाओं के वैक्सीनेशन को रोकना पड़ा है।

टोयोटा मोटर्स किस देश की कंपनी है? दीजिए ऐसे ही कुछ आसान सवालों के जवाब और जीतिए इनाम

एक ओर केंद्र सरकार वैक्सीन की कमी का हवाला देते हुए राज्यों को वैक्सीन उपलब्ध नहीं कर रही है, लेकिन दूसरी ओर प्राइवेट अस्पतालों को ज्यादा कीमतों पर वैक्सीन कैसे उपलब्ध करवा रही है। उन्होंने बीजेपी से पूछा कि महामारी में भी बीजेपी शासित कई राज्यों के वित्तमंत्री वैक्सीन से जीएसटी क्यों नहीं हटाना चाहते हैं।

मनीष सिसोदिया, डिप्टी सीएम

सिसोदिया ने केंद्र सरकार से सवाल पूछा कि जब राज्य सरकारें अपने युवाओं को मुफ्त में वैक्सीन लगवाना चाहती है तो केंद्र सरकार को क्या परेशानी है। केंद्र युवाओं के लिए तो राज्यों को वैक्सीन उपलब्ध नहीं करवा रही, लेकिन ऊंची कीमतों पर प्राइवेट अस्पतालों को कैसे वैक्सीन की आपूर्ति कर रही है? केंद्र के पास प्राइवेट अस्पतालों को बेचने के लिए वैक्सीन है, लेकिन राज्यों के लिए नहीं है। जो वैक्सीन राज्य सरकार युवाओं को फ्री में लगा रही है प्राइवेट अस्पताल उनके लिए 1000-1200 रुपए मांग रहे हैं।

दिल्ली में शुभ संकेत, 22 मार्च के बाद पहली बार एक हजार से कम आए नए मामले

10 जून के बाद मिलेगी युवाओं के लिए वैक्सीन
डिप्टी सीएम ने बताया कि दिल्ली सरकार को केंद्र सरकार की तरफ से शुक्रवार को एक संदेश मिला कि दिल्ली को युवाओं के लिए वैक्सीन 10 जून से पहले नहीं मिलेगी। एक ओर जब दिल्ली सरकार 3 महीने में दिल्ली में सभी नागरिकों को वैक्सीन लगाने में सक्षम है तो केंद्र सरकार वैक्सीन उपलब्ध नहीं करवा रही है। दिल्ली में 92 लाख युवा आबादी है जिनके लिए 1.84 करोड़ वैक्सीन डोज की जरूरत है, लेकिन केंद्र सरकार ने अब तक अप्रैल महीने में 4.5 लाख और मई में 3.67 लाख वैक्सीन ही उपलब्ध करवाई है। जून में दिल्ली को 10 जून के बाद युवाओं के लिए सिर्फ 5.5 लाख वैक्सीन मिलेगी।

Manish-Sisodia

मनीष सिसोदिया (फाइल)

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.