हाइलाइट्स

  • बीजेपी सांसद ने पाकिस्तान की पीएम इमरान खान पर साधा निशाना
  • बिधूड़ी बोले- देशविरोधी नारा लगाने वालों की रगों में बाबर का खून
  • 1921 के मालाबार नरसंहार को सिलेबस में शामिल करने की मांग

नई दिल्ली
बीजेपी सांसद रमेश बिधूड़ी ने मुस्लिमों को लेकर एक विवादास्पद बयान दिया है। बीजेपी सांसद ने कहा कि जहां भी मुस्लिम अल्पसंख्यक होते हैं वहां मानवाधिकारों की बात की जाती है। वहीं, जहां ये बहुमत में आ जाते हैं वहां हिंसा और खूनखराबा शुरू हो जाता है। बीजेपी सांसद ने दिल्ली में आरएसएस के कार्यक्रम में यह बात कही। बिधूड़ी ने पाकिस्तान के पीएम इमरान खान पर भी निशाना साधा।

इंडिया टुडे की खबर के अनुसार बीजेपी सांसद ने कहा कि जहां भी मुस्लिम समुदाय अल्पसंख्यक रहता है, वहां मानवाधिकारों की बात होती है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री अल्पसंख्यकों के अधिकारों की बात करते हैं। मैं पूछना चाहता हूं कि पाकिस्तान में हिंदुओं की आबादी 26% से घटकर 2.5% कैसे पहुंच गई।

देश विरोधी नारे लगाने वालों पर निशाना
बीजेपी सांसद ने देशविरोधी नारे लगाने वालों पर भी निशाना साधा। बिधूड़ी ने कहा कि जो लोग केरल और जेएनयू ने देश के टुकड़े-टुकड़े होने के नारे लगाते हैं उनकी रगों में भारत का खून नहीं दौड़ रहा है। ऐसे लोगों की रगों में बाबर और औरंगजेब का खून दौड़ता है। रमेश बिधूड़ी ने जामिया और शाहीन बाग का जिक्र करते हुए देश के खिलाफ नारे लगाने वालों को इसी मानसिकता का प्रतीक बताया।

साध्वी प्रज्ञा ने फिर दिया विवादित बयान, कहा- क्षत्रिय खूब पैदा करें बच्चे

मालाबार नरसंहार की घटना को सिलेबस में मिले जगह
इसी कार्यक्रम में बीजेपी के राज्यसभा सांसद और शिक्षा से जुड़ी संसद की स्थायी समिति के अध्यक्ष विनय सहस्रबुद्धे ने कहा है कि 1921 में मालाबार में हुए नरसंहार की घटना को पाठ्यक्रमों में शामिल किया जाना चाहिए। विनय सहस्रबुद्धे ने कहा कि शिक्षा से जुड़ी संसद की स्थायी समिति के अध्यक्ष होने के नाते वो पिछले कई महीनों से पाठ्यक्रमों की समीक्षा करने का ही काम कर रहे हैं और उनका मानना है कि देश की नई पीढ़ी को मालाबार नरसंहार का सच जानना चाहिए। भगत सिंह, रानी लक्ष्मीबाई जैसे भारत के महान सपूतों के बारे में पूरी जानकारी मिलनी चाहिए।

Monsoon Session Parliament 2021: बीजेपी सांसद ने दिया सोनिया गांधी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस, जानें वजह
हिंदुओं का नरसंहार करने वालों का महिमामंडन बंद हो
कार्यक्रम में बीजेपी नेता कपिल मिश्रा और आरएसएस के वरिष्ठ नेता और प्रज्ञा प्रवाह के राष्ट्रीय संयोजक जे नंदकुमार ने मांग की कि 100 साल पहले हिंदुओं का नरसंहार करने वालों को स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बताकर भगत सिंह से तुलना कर महिमामंडित करने का प्रयास बंद किया जाए। साथ ही नरसंहार करने वाले लोगों के परिवारों को जो पेंशन दी जा रही है उसे बंद किया जाए। उन्होंने बताया कि इन मांगों के समर्थन में 26 सितंबर को दिल्ली में एक सेमिनार का भी आयोजन किया गया है और इन मांगों के पूरा होने तक उनका यह अभियान जारी रहेगा।
(IANS इनपुट के साथ)

hindu malabar

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.