डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कांग्रेस का पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने ट्वीट किया, मोदी ‘सिस्टम’ में जितनी आसानी से सवाल उठाने वालों की गिरफ़्तारी होती है, उतनी आसानी से वैक्सीन मिलती तो देश आज इस दर्दनाक स्थिति में ना होता। कोरोना रोको, जनता के सवाल नहीं!

इससे पहले एक अन्य ट्वीट में राहुल गांधी ने कहा था, मोदी सरकार नींद में है और उसे जागना जरूरी है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘आने वाले समय में बच्चों को कोरोना से सुरक्षित करना होगा। पीडियाट्रिक स्वास्थ्य सुविधाएँ व वैक्सीन-इलाज के प्रोटोकॉल अभी से तैयार होने चाहिए। देश के भविष्य के लिए वर्तमान मोदी ‘सिस्टम’ को नींद से जगाना ज़रूरी है।’ 

बता दें कि वैक्सीनेशन अभियान के संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करने वाले पोस्टर राजधानी दिल्ली में लगाए गए थे। इसके बाद दिल्ली पुलिस ने इस मामले में 25 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, अभी तक की जांच में सामने आया है कि दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में पीएम मोदी के खिलाफ ये पोस्टर आम आदमी पार्टी (AAP) के कार्यकार्ताओं और नेताओं ने लगवाए थे।

पुलिस का कहना है कि इन पोस्टर्स में कहीं भी प्रिंटिंग प्रेस का जिक्र नहीं है, जहां ये छपवाए गए हैं। जांच के दौरान पता चला कि यह सब मोती नगर निवासी प्रशांत कुमार के निर्देश पर किया जा रहा था, जो कि आम आदमी पार्टी के ही कार्यकर्ता हैं और राकेश जोशी के सहयोगी है। राजेश जोशी भी ‘AAP’ कार्यकर्ता हैं और अब उन्हें भी जांच में शामिल किया गया है।

दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने शनिवार को बताया था कि गुरुवार को पुलिस को पोस्टरों के बारे में सूचना मिली थी, जिसके बाद वरिष्ठ अधिकारियों को सतर्क किया गया। शिकायतों के आधार पर दिल्ली पुलिस ने लोक सेवक द्वारा जारी आदेश की अवज्ञा करने से संबंधित IPC की धारा 188 के तहत विभिन्न जिलों में 25 FIR दर्ज कीं।

इसी घटनाक्रम को लेकर राहुल गांधी ने ट्वीट कर पीएम नरेंद्र मोदी को चुनौती देते हुए कहा था कि, ‘मोदी जी आपने बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी, मुझे भी गिरफ्तार करो’।

We put up posters critical of PM Modi, arrest our MLAs if you want': AAP | Cities News,The Indian Express

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.