डिजिटल डेस्क, चबुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को पश्चिम बंगाल के बाद असम के चबुआ जिले पहुंचे। यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि  एक तरफ हमारी सरकार, सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास के पवित्र मंत्र पर काम कर रही है। वहीं दूसरी तरफ, कांग्रेस आज झूठी घोषणाओं का भोंपू बनकर रह गई है। उसकी ये सच्चाई देश भर के लोग देख भी रहे हैं, समझ भी रहे हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि ये (कांग्रेस) वही लोग हैं जिन्होंने चाय के बागानों में काम करने वाले हमारे भाई-बहनों पर कभी भी ध्यान नहीं दिया। असम के लोगों को इन लोगों से सावधान रहने की आवश्यकता है। एक चायवाला आपके दर्द को नहीं समझेगा तो कौन समझेगा।

कांग्रेस भारत की चाय की पहचान को मिटाने वालों के साथः पीएम मोदी
पीएम मोदी ने कहा कि मुझे यह देखकर तकलीफ हुई कि इस देश की एक ऐसी पार्टी जो सबसे पुरानी पार्टी, जिसने इस देश पर 50-55 साल शासन किया। ऐसी कांग्रेस पार्टी आज भारत की चाय की पहचान को मिटाने वालों का खुलेआम समर्थन कर रही है। 

पीएम मोदी ने टूलकिट का मुद्दा उठाया
पीएम मोदी ने कहा कि आपने एक टूलकिट की चर्चा सुनी होगी, इस टूलकिट में असम की चाय और हमारे ऋषि मुनियों द्वारा दिए गए योग को दुनिया में बदनाम करने की योजना तैयार की गई। ऐसी साजिश रचने वालों को कांग्रेस पार्टी समर्थन करे और असम में वोट मांगने की हिम्मत करे। कांग्रेस को हम माफ कर सकते हैं क्या? 

कांग्रेस का गठबंधन असम के लिए खतरनाकः पीएम मोदी
पीएम ने कहा कि कांग्रेस आज उस पार्टी के साथ गठबंधन के साथ मैदान में उतरी है जो असम की अस्मिता, असम की संस्कृति के लिए अपने आप में एक बहुत बड़ा खतरा है, बहुत बड़ा संकट है। 

कांग्रेस से सतर्क रहें आप लोगः पीएम मोदी
पीएम मोदी ने असम की जनता को सतर्क करते हुए कहा कि कांग्रेस और उसके साथी इसी समय का लाभ उठाना चाहते हैं। बीते पांच वर्षों में असम ने जो हासिल किया है अब वो उसे लूटना चाहते हैं। इसलिए आपको सतर्क रहना है। आपको याद रखना है कि कांग्रेस अपने फायदे के लिए किसी को भी दांव पर लगा सकती है। असम में गरजे पीएम मोदी- कांग्रेस अपने फायदे के लिए किसी को भीदांव पर लगा सकती है।

कांग्रेस ने जमीन का अधिकार देने के लिए कोई काम नहीं कियाः पीएम मोदी
पीएम मोदी ने असम में कहा कि आपको याद रखना है कि ये वही कांग्रेस है, जिसने मूल निवासियों को जमीन का अधिकार देने के लिए कभी भी गंभीर कदम नहीं उठाए। यहां के मूल निवासियों को जमीन के पट्टे देने का काम सर्बानंद जी के नेतृत्व में एनडीए की सरकार ने ही शुरू किया।

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.