हाइलाइट्स:

  • आप विधायक ने कहा कि लोगों को ऑक्सिजन, बेड नहीं मिल रहा है
  • शोएब इकबाल बोले सबसे सीनियर विधायक हूं, कोई सुन नहीं रहा है
  • भाजपा और कांग्रेस ने भी राष्ट्रपति शासन लगाने का किया समर्थन

नई दिल्ली
दिल्ली में कोरोना की बिगड़ती स्थिति को लेकर आम आदमी पार्टी के विधायक ने अपनी ही पार्टी पर सवाल खड़े कर दिए है। मटिया महल से आम आदमी पार्टी के विधायक का कहना है कि कोरोना से दिल्ली में स्थित बदतर हो गई है। पार्टी विधायक ने कहा कि दिल्ली में कोई काम नहीं हो रहा है। दिल्ली में कोई सुनने वाला नहीं है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में ना बेड है, ना ऑक्सिजन है, ना दवाइयां मिल रही है। यहां कोई काम नहीं हो रहा है। ऐसे में दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगा देना चाहिए।

मैं सबसे सीनियर विधायक, कोई सुन नहीं रहा
आप विधायक ने कहा कि दिल्ली में कागजों पर ही सरकार चल रही है। उन्होंने कहा कि मैं छह बार से विधायक हूं। मैं सबसे सीनियर विधायक हूं। कोई सुनने वाला नहीं है, कोई नोडल अधिकारी नहीं। उन्होंने कहा कि ऐसे में तुरंत प्रभाव से दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए।

कांग्रेस और भाजपा ने भी साधा निशाना
आप विधायक की तरफ से राष्ट्रपति शासन की मांग पर भाजपा और कांग्रेस राष्ट्रपति शासन के समर्थन में आ गए है। भाजपा नेता ने कहा कि शोएब इकबाल सही कह रहे हैं। स्थितियां अरविंद केजरीवाल के हाथ से बाहर निकलती जा रही है। इससे पहले कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अनिल चौधरी ने भी दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की थी।

दिल्ली में 24 हजार से अधिक मामले
राष्ट्रीय राजधानी में बृहस्पतिवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 24,235 नए मामले सामने आने के साथ ही दिल्ली में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 11,22,286 तक पहुंच गई। शहर में संक्रमण की दर 32.82 दर्ज की गई। स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के मुताबिक, दिल्ली में गुरुवार को कोविड-19 के 395 मरीजों की मौत हो गई जोकि पिछले साल महामारी की शुरुआत के बाद से एक दिन की सबसे अधिक संख्या है। शहर में अब तक 15,772 लोग इस घातक वायरस के कारण जान गंवा चुके हैं।

iqbal

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.