विशेष संवाददाता, नई दिल्ली
सीएम अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को कहा कि कोरोना को हराने के लिए सभी राज्य सरकारों को केंद्र सरकार के साथ टीम इंडिया बनकर काम करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने राज्यों पर वैक्सीन खरीदने की जिम्मेदारी डाल दी है, लेकिन अभी तक एक भी राज्य वैक्सीन खरीदने में सफल नहीं हुआ है।

सीएम ने कहा, ‘केंद्र सरकार हमें जो जिम्मेदारी देगी, उसे हम पूरा करेंगे लेकिन जो काम हमारा है ही नहीं, वह काम राज्य सरकारें कैसे करेंगी? केंद्र सरकार राज्य सरकारों को वैक्सीन दे, तो जनता को वैक्सीन लगाने का काम राज्य सरकारों का है।’

Drive Through Vaccination: दिल्ली में कार में बैठे-बैठे लगने लगी वैक्सीन, टीकों की कमी को लेकर केंद्र पर भड़के केजरीवाल
अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 6 महीने पहले कई देश अपने लोगों को व्यापक स्तर पर वैक्सीन लगा रहे थे। उस वक्त बहुत बड़ी गलती हुई है। अपने लोगों को वैक्सीन लगाने की बजाय अपनी वैक्सीन दूसरे देशों को भेजनी शुरू कर दी गई। अगर दिसंबर में युद्ध स्तर पर वैक्सीन का उत्पादन बढ़ाकर भारतीयों का वैक्सीनेशन शुरू कर दिया जाता तो शायद दूसरी लहर के प्रकोप से देश को बचाया जा सकता था। सीएम ने कहा कि देश ने छह महीने खो दिए हैं।

वैक्सीन की है बहुत कमी
सीएम अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि दिल्ली में वैक्सीन की बहुत कमी है और पिछले चार दिनों से युवाओं के वैक्सीनेशन सेंटर बंद पड़े हैं। बुजुर्गों की कोवैक्सीन भी खत्म हो गई है। दिल्ली सरकार ने केंद्र सरकार को लिखा है लेकिन अभी तक वैक्सीन आई नहीं है। दिल्ली ही नहीं बल्कि देशभर में सेंटर बंद हो रहे हैं। केजरीवाल ने कहा कोरोना की दूसरी लहर देश के लिए बेहद घातक साबित हुई है। शायद ही ऐसा कोई परिवार हो, जो कोरोना से अछूता रहा हो। दुनिया की सबसे पहली वैक्सीन भारत के वैज्ञानिकों ने बनाई। उसी वक्त युद्धस्तर पर उत्पादन शुरू कर देना चाहिए था और सभी भारतीयों को वैक्सीन लगाने का काम शुरू कर देना चाहिए था।

वैक्सीनेशन के लिए युवा अब प्राइवेट अस्पतालों में सहारे
नहीं ला पाए वैक्सीन
सीएम ने कहा कि मार्च में कोरोना की दूसरी लहर शुरू हुई। हमें उसी वक्त दुनियाभर से वैक्सीन मंगवा कर अपने लोगों को लगा देनी चाहिए थी, लेकिन उस वक्त सभी राज्यों को कह दिया गया कि आप अपना-अपना देख लो। केंद्र सरकार से मिली वैक्सीन को छोड़कर कोई भी राज्य अपने प्रयासों से किसी भी कंपनी से एक भी अतिरिक्त टीके का इंतजाम नहीं कर पाया है। वैक्सीन कंपनियों ने साफ-साफ कह दिया कि वे राज्य सरकारों से बात नहीं करेंगे, केवल केंद्र सरकार से बात करेंगे।

कोरोना के खिलाफ देश कर रहा युद्ध
सीएम ने कहा, ‘इस वक्त हमारा देश कोरोना महामारी के खिलाफ युद्ध कर रहा है। ऐसे युद्ध के समय हम यह नहीं कह सकते कि सब राज्य सरकारें अपना-अपना देख लें। कल को अगर पाकिस्तान भारत से युद्ध करता है, तो यह थोड़ी कहेंगे कि राज्य सरकारें अपना-अपना देख लें। यूपी वाले अपना टैंक खरीद लें, दिल्ली वाले अपने हथियार खरीद लें। हम यह युद्ध किसी भी कीमत पर हार नहीं सकते हैं। भारत यह युद्ध किसी भी कीमत पर हार नहीं सकता और कोई भी सरकार यह युद्ध हार नहीं सकती। यदि केंद्र सरकार हारती है, तो बीजेपी नहीं हारेगी, इंडिया हारेगा। दिल्ली सरकार हारती है, तो आम आदमी पार्टी नहीं हारेगी, भारत हारेगा। महाराष्ट्र सरकार हारती है, तो शिवसेना नहीं हारेगी, भारत हारेगा।’ केजरीवाल ने कहा कि यह वक्त भारत को एक होकर काम करने का है।

vaccine

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.