विशेष संवाददाता, नई दिल्ली
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जून में दिल्ली को स्पूतनिक वैक्सीन की कुछ डोज मिल सकती हैं। उन्होंने डीडीयू मार्ग आईटीओ स्थित राजकीय सर्वोदय बाल विद्यालय में पत्रकारों और उनके परिजनों के लिए फ्री वैक्सीनेशन सेंटर की शुरुआत की। इस सेंटर पर 18 से 45 और 45 से ज्यादा उम्र के पत्रकार और उनके परिजन वैक्सीन लगवा सकते है। पंजीकरण भी मौके पर ही किया जा सकेगा। दिल्ली में वैक्सीन की कमी पर सीएम ने कहा कि सभी राज्य सरकारें अपनी पूरी कोशिश कर चुकी हैं, लेकिन अभी तक एक भी राज्य अपने स्तर पर एक भी वैक्सीन लाने में सफल नहीं हुआ है। वैक्सीन की खरीद और उत्पादन करना केंद्र सरकार की जिम्मेदारी है। केंद्र राज्यों को वैक्सीन दे, तो राज्य सरकारें जल्द से जल्द लोगों का वैक्सीनेशन करवा सकेंगी। दिल्ली में सोमवार से अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो गई है। लोगों को ड्यूटी जाने के लिए ई-पास बनवाने में कुछ दिक्कतें आ रही हैं। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जो भी दिक्कतें आएंगी, उसे ठीक किया जाएगा। पोर्टल में थोड़ी दिक्कत थी। लोगों से जैसे-जैसे फीडबैक मिलेगा, जिन चीजों में दिक्कत आएगी, सरकार उसे ठीक करेगी।

स्पूतनिक मिलने की उम्मीद
सीएम अरविंद केजरीवाल ने वैक्सीनेशन को लेकर एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि जल्दी-जल्दी वैक्सीन लगाएंगे, तभी लोगों की जान बचेगी। जितनी जल्दी और जितने ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगेगी, उतने ही ज्यादा लोगों की जान बचेगी। स्पूतनिक की वैक्सीन को लेकर सीएम ने कहा कि उन्होंने जून में कुछ वैक्सीन देने का भरोसा दिया है। अभी तो वे भी विदेश से वैक्सीन आयात कर रहे हैं और संभवतः अगस्त में उनका उत्पादन शुरू होगा। इस बीच, जितनी वह वैक्सीन आयात करेंगे, उसमें से एक हिस्सा दिल्ली को भी देंगे।

ब्लैक फंगस के करीब 944 केस
सीएम ने कहा कि दिल्ली में ब्लैक फंगस के करीब 944 केस आए हैं। इसमें करीब 300 केस केंद्र सरकार के अस्पतालों में हैं, जबकि करीब 650 केस दिल्ली सरकार के अस्पतालों में हैं, लेकिन इसके इलाज में इस्तेमाल होने वाले टीके की बहुत कमी है। शनिवार को करीब एक हजार टीके आए थे। यह संख्या बहुत कम है, क्योंकि एक दिन में एक मरीज को तीन से चार टीके लगते है। वहीं रविवार को कोई टीका नहीं आया।

केंद्र खरीदे विदेशों से वैक्सीन

सीएम ने ग्लोबल टेंडर के जरिए वैक्सीन खरीदने के सवाल पर कहा कि एक से डेढ़ महीने हो गए हैं, जब केंद्र सरकार ने कहा था कि सभी राज्य अपने-अपने स्तर पर वैक्सीन की खरीदेंगे। देश में 36 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश हैं। सभी ने वैक्सीन खरीदने के लिए पूरी कोशिश की। मैं किसी एक पार्टी की सरकार की बात नहीं कर रहा हूं, बल्कि सभी पार्टियों की सभी राज्य सरकारों ने कोशिश करके देख ली है। सभी ने ग्लोबल टेंडर भी कर लिए, लेकिन अभी तक एक भी राज्य अपने स्तर पर वैक्सीन का एक भी टीका लाने में सफल नहीं हुआ। जाहिर तौर पर राज्य सरकारें वैक्सीन नहीं खरीद सकती हैं। यह काम केंद्र सरकार को करना पड़ेगा। केंद्र सरकार दुनिया भर से वैक्सीन खरीदे।

kejriwal

मीडियाकर्मियों के लिए शुरू किए वैक्सीन सेंटर पर केजरीवाल और सिसोदिया

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.