हाइलाइट्स:

  • महामारी के कारण अनाथ हुए बच्चों की शिक्षा का एवं अन्य खर्च वहन करेगी
  • केजरीवाल बोले – बुजुर्ग नागरिकों ने अपने बच्चों को खो दिया है, मैं उनका बेटा हूं
  • दिल्ली में संक्रमण की दर घटकर 12 प्रतिशत हुई, पिछले 24 घंटे में 8,500 केस

नई दिल्ली
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि दिल्ली सरकार कोविड-19 के कारण कमाने वाले सदस्यों को खोने वाले परिवारों की वित्तीय मदद करेगी और महामारी के कारण अनाथ हुए बच्चों की शिक्षा का एवं अन्य खर्च वहन करेगी।केजरीवाल ने यह भी कहा कि दिल्ली में संक्रमण की दर घटकर 12 प्रतिशत हुई, पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के करीब 8,500 मामले दर्ज किए गए हैं।

Coronavirus Update: घटने लग गया कोरोना, दिल्ली, यूपी और बिहार में पॉजिटिविटी रेट 10 फीसदी से भी नीचे
कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई खत्म नहीं
उन्होंने एक ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा कि लेकिन कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई खत्म नहीं हुई है और ढिलाई बरतने की गुंजाइश नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं जानता हूं कि कई बच्चों ने अपने माता-पिता को खो दिया। मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि मैं उनके लिए उपलब्ध हैं। अपने आप को अनाथ न मानें। सरकार उनकी पढ़ाई का खर्च एवं अन्य खर्च उठाएगी।’’

बुजुर्ग नागरिकों ने अपने बच्चों को खो दिया है
मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘मैं जानता हूं कि बुजुर्ग नागरिकों ने अपने बच्चों को खो दिया है। वे उनकी कमाई पर आश्रित थे। मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि उनका बेटा (केजरीवाल) जीवित है। सरकार ऐसे सभी परिवारों की मदद करेगी जिन्होंने अपना कमाने वाला सदस्य खो दिया।’’ केजरीवाल ने कहा कि पिछले 10 दिनों में कोरोना वायरस मरीजों के लिए करीब 3,000 बिस्तर उपलब्ध हैं। हालांकि आईसीयू में बिस्तर अब भी लगभग भरे हुए हैं।

Delhi Vaccination New Update: 45+ के लिए अब वॉक-इन वैक्सिनेशन, सरकारी स्कूलों में शिफ्ट होंगे सेंटर्स, मनीष सिसोदिया का ऐलान
पिछले 24 घंटे में 10489 केस
स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी में गुरुवार को संक्रमण के 10,489 नए मामले आए और 308 लोगों की मौत हो गई जबकि संक्रमण दर 14.24 प्रतिशत दर्ज की गई। सीएम केजरीवाल ने कहा कि ‘‘हम इस दिशा में काम कर रहे हैं। करीब 1,200 और आईसीयू बिस्तरों को तैयार किया जा रहा है। ऑक्सिजन वाले बिस्तर तैयार किए जा रहे हैं और ऑक्सिजन सिलेंडर खरीदे जा रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमें संक्रमण के मामले शून्य तक ले जाने हैं। हम ढील नहीं बरत सकते, हमें लॉकडाउन का सख्ती से पालन करना होगा।’’

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.