नई दिल्ली
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को दिल्ली फार्मास्युटिकल साइंसेज एंड रिसर्च यूनिवर्सिटी (DPSRU) में ध्यान और योग विज्ञान केंद्र (मेडिटेशन एंड योगा साइंस सेंटर) का उद्घाटन किया। सीएम ने कहा कि योग केंद्र की स्थापना हमारा सपना रहा है, हम योग को जन आंदोलन में बदलना चाहते हैं और इसके लिए हमने बजट का भी प्रावधान किया है। अगर 20-40 लोग ग्रुप बना कर योग सीखने की इच्छा जताते हैं, तो दिल्ली सरकार उन्हें मुफ्त में इंस्ट्रक्टर मुहैया कराएगी। अभी 450 योग इंस्ट्रक्टर तैयार किए जा रहे हैं और 2 अक्टूबर से हम लोगों को मुफ्त इंस्ट्रक्टर उपलब्ध कराना शुरू कर देंगे।

केजरीवाल ने कहा कि योगा करने से इम्यूनिटी अच्छी होती है और कोरोना से भी बच सकते हैं। पोस्ट कोविड के दौरान भी योग काफी मददगार साबित होगा। वहीं, इस मौके पर डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि मुख्यमंत्री ने परिकल्पना की थी कि जो लोग योग को अपनाना चाहते हैं, उनको ट्रेनर उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी सरकार लेगी। यह एक साल का कोर्स है। इसमें पतंजलि का योग है, तो भगवान बुद्ध का ध्यान भी शामिल किया गया है। इस दौरान सीएम और डिप्टी सीएम ने टीचर्स एंड स्टूडेंट्स मैनुअल और किताब का भी विमोचन किया।

सीएम ने कहा कि सोमवार को योग दिवस है और मैं समझता हूं कि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को इससे अच्छे तरीके से और नहीं मनाया जा सकता था। हम यहां सेंटर फॉर मेडिटेशन एंड योग साइंसेज शुरू करने जा रहे हैं। हम डेढ़-दो साल से बहुत गंभीरता से सोच रहे थे कि किस तरह से दिल्ली के हर व्यक्ति तक योग को पहुंचाया जाए। हमने यह एक वाक्य कई बार सुना है कि योग को जन आंदोलन बनाना है। यह कहते तो बहुत लोग हैं, लेकिन योग को कैसे घर-घर तक पहुंचाया जाए? पूरी दुनिया को भारत योग सिखा रहा है, लेकिन अपने भारतवर्ष में कितने लोग योग करते हैं? इस बार जब बजट आया था, उसके पहले हमने बहुत से लोगों के साथ बैठक कर चर्चा और विचार-विमर्श किया। इसके बाद तय किया कि इसको एक विशिष्ट बजट दिया जाए।

सीएम ने आगे कहा कि अगर 20, 25, 30, 40 लोग एक ग्रुप बनाकर दिल्ली सरकार को फोन करें और कहें कि हमें योग सीखना है, तो दिल्ली सरकार उनको इंस्ट्रक्टर मुफ्त में उपलब्ध कराएगी। वे लोग इंस्ट्रक्टर को आरडब्ल्यूए, किसी पार्क या किसी भी सार्वजनिक स्थान पर बुला लें। आप यकीन मानिए, मैं अपने मन में यह सोच कर बैठा था कि अभी इसका काम शुरू नहीं हुआ है, लेकिन अभी हफ्ते भर पहले मनीष सिसोदिया ने मुझसे इसके कार्यक्रम के लिए समय मांगा, तब मुझे पता चला कि यह शुरू हो गया है। आप सब लोगों ने इतने कठिन समय में, जब पूरी दिल्ली, पूरा देश कोरोना से जूझ रहा था, इसे जारी रखा और आज इसका हम उद्घाटन कर रहे हैं। मैं बता नहीं सकता हूं कि आज मुझे कितनी खुशी हो रही है।

सीएम ने कहा कि आगामी 2 अक्टूबर से हम इसको जनता के बीच ले जाने के लिए तैयार होंगे। आज हमारे सामने जो 450 योग इंस्ट्रक्टर हैं, वह तब तक तैयार हो जाएंगे। अभी कम शिक्षक हैं और हो सकता है कि हम सारे लोगों को एक साथ शिक्षक उपलब्ध नहीं करा पाएं, लेकिन यह एक अच्छी शुरुआत हो गई है। बहुत कम समय में इस पूरे कार्यक्रम को डिजाइन किया गया है। सीएम ने कहा कि मैं समझता हूं कि कोरोना काल लोगों को सबसे ज्यादा योग की जरूरत महसूस हो रही है। योग इम्यूनिटी देगा, अंदर से शक्ति देगा और स्वस्थ रखेगा।

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.