हाइलाइट्स:

  • दिल्ली में कोरोना की तीसरी लहर की तैयारियां शुरू
  • 9 अस्पतालों में 22 नए ऑक्सिजन प्लांट शुरू किए गए
  • केजरीवाल बोले- इतनी बड़ी बीमारी से सबको मिलकर लड़ना होगा

नई दिल्ली
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को वर्चुअल माध्यम से 9 अस्पतालों में स्थापित 22 नए पीएसए ऑक्सिजन प्लांट का उद्घाटन किया। इन प्लांट्स की संयुक्त क्षमता 17 मीट्रिक टन है। अब तक दिल्ली में ऑक्सिजन के कुल 27 प्लांट शुरू हो गए हैं। केंद्र सरकार के भी छह ऑक्सिजन प्लांट शुरू हो गए हैं और 7 प्लांट आने वाले हैं। इसके अलावा, 17 और प्लांट जुलाई तक लग जाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर दिल्ली सरकार पूरी तैयारी कर रही है। ऑक्सिजन टैंकर खरीद जा रहे हैं। इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन भी मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना की यह लहर देश के लिए भले ही दूसरी लहर रही हो, लेकिन दिल्ली के लिए चौथी लहर थी। दिल्ली के लोगों, डॉक्टर्स, नर्सेज, पैरामेडिकल स्टाफ और सफाई कर्मचारियों की मेहनत से दूसरी लहर पर काबू पाया जा सका है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब हमें तीसरी लहर का डर है। ब्रिटेन में तीसरी लहर का प्रकोप बढ़ता जा रहा है, जबकि वहां 45 फीसदी लोगों को वैक्सीन लग गई है। हमें हाथ पर हाथ रखकर नहीं बैठना है। ऑक्सिजन की कमी न हो, इसके लिए पूरी तैयारी की जा रही है। दिल्ली में जब कोरोना नहीं था, तब अस्पतालों को रोजना करीब 150 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सिजन की जरूरत होती थी। दूसरी लहर में दिल्ली को प्रतिदिन 700 मीट्रिक टन ऑक्सिजन की जरूरत पड़ी। ऐसे में संभावित तीसरी लहर में ऑक्सिजन की कमी न हो, इसके लिए तैयारी की जा रही है।

Delhi Unlock: 50% क्षमता के साथ रेस्तरां, वीकली मार्केट… अनलॉक में दिल्ली को कल से मिल सकती हैं ये रियायतें
‘इतनी बड़ी बीमारी से सबको मिलकर लड़ना होगा’
मुख्यमंत्री ने कहा, मैं केंद्र सरकार का भी शुक्रिया अदा करता हूं। यह इतनी बड़ी बीमारी है कि इससे हम अकेले नहीं लड़ सकते हैं। सबको मिलकर लड़ना होगा। दिल्ली में 17 और ऑक्सिजन प्लांट जुलाई तक लग जाएंगे। ऑक्सिजन टैंकर भी हम खरीद रहे रहे हैं। जो भी कदम उठाने चाहिए, वे सभी कदम उठाए जा रहे हैं। वैक्सीनेशन कार्यक्रम अच्छा चल रहा है। जब वैक्सीन की कमी होती है, तब दिक्कत आती है। ‘जहां वोट, वहां वैक्सीनेशन’ का कार्यक्रम बहुत अच्छा चल रहा है।

Delhi Covid-19 Update: दिल्ली को बड़ी राहत, 100 दिन बाद आज सबसे कम मामले
22 प्लांट्स से 1000 बेड को मिलेगी ऑक्सिजन
दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि 22 पीएसए ऑक्सिजन प्लांट में से 17 प्लांट्स एचसीएल और चार मारुति ने दिए हैं। आज जो 22 प्लांट शुरू हो रहे हैं, उनकी क्षमता लगभग 9500 एलपीएम है। यानी हमें ऑक्सिजन की अगर जरूरत पड़ती है, इन 22 प्लांट्स से करीब 1000 बेड के लिए ऑक्सिजन अस्पताल के अंदर ही 24 घंटे उत्पादित होगी। हमने पहले जो प्लांट्स शुरू किए हैं, उनकी क्षमता 2700 एलपीएम है और लगभग 275 मरीजों को ऑक्सिजन दी जा सकती है।

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.