हाइलाइट्स:

  • दिल्ली सरकार के हर तीसरे केंद्र पर अब 24×7 कोरोना वैक्सीन
  • केजरीवाल ने पीएम से कहा, टीके के लिए उम्र सीमा खत्म करें
  • स्कूलों और सामुदायिक भवनों को भी टीकाकरण केंद्र बनाने की मांग

नई दिल्ली
दिल्ली में कोरोना मामलों की तेज होती रफ्तार पर लगाम लगाने के मकसद के साथ केजरीवाल सरकार ने एक महत्वपूर्ण फैसला किया है। दिल्ली में अब 24 घंटे वैक्सीनेशन की सुविधा मिल सकेगी। दिल्ली सरकार के सरकारी अस्पतालों में बने टीकाकरण केंद्रों में से एक तिहाई अब रात को 9 से सुबह 9 बजे तक भी खुले रहेंगे और इन केंद्रों में पूरी रात वैक्सीन लगवाई जा सकती है। अभी वैक्सीनेशन सेंटर सुबह 9 से रात 9 बजे तक खुलते हैं, लेकिन 6 अप्रैल से दिल्ली सरकार के अस्पतालों में बने एक तिहाई टीकाकरण केंद्र अब रात 9 बजे के बाद भी खुले रहेंगे।

दिल्ली सरकार ने इस बाबत आदेश जारी कर दिया है और टीकाकरण केंद्रों पर रात की शिफ्ट में भी स्टाफ को नियुक्त करने के आदेश दिए हैं। अब दिल्ली में 24 घंटे वैक्सीन लगवाने की सेवा उपलब्ध रहेगी। इससे पहले मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर अपील की है कि टीकाकरण केंद्रों को बनाने के लिए तय की गई गाइडलाइंस में बदलाव किया जाए और स्कूलों व कम्युनिटी सेंटरों में भी केंद्र बनाने की इजाजत दी जाए, ताकि युद्ध स्तर पर टीकाकरण अभियान को चलाया जा सके।

दिल्ली में कोरोना की बढ़ती रफ्तार, सरकार के कई अस्पतालों में कोविड मरीजों के लिए बेडों की संख्या बढ़ाई जाएगी
केजरीवाल ने पीएम से कहा, टीके के लिए उम्र सीमा खत्म करें
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना को काबू में करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिखकर टीके के लिए उम्र सीमा खत्म करने की मांग की है। केजरीवाल ने लिखा कि जितने ज्यादा लोगों को टीका लगेगा, उतना ही कोरोना के फैलने की रफ्तार कम होगी। दिल्ली समेत पूरे देश में कोरोना के बढ़ते मामलों ने नई चिंता और चुनौती पेश की है। ऐसे में टीकाकरण अभियान को युद्धस्तर पर चलाना होगा। अगर नए केंद्र खोलने के नियमों को सरल किया जाता है और सभी को टीका लगाने की इजाजत दी जाती है तो दिल्ली सरकार तीन महीने में सभी दिल्ली वासियों को टीका लगा सकती है। कोरोना के खिलाफ लड़ाई में हमें हर कदम पर केंद्र का सहयोग मिला है। मैं उम्मीद करता हूं कि आप हमारी इन बातों पर भी गौर करेंगे, जिससे कोरोना के खिलाफ प्रभावी लड़ाई लड़ी जा सके।

Delhi Covid 19 Update: दिल्ली में सामने आये कोविड-19 के 3,548 मामले, 15 लोगों की मौत
स्कूलों में भी बनाए जाएं टीकाकरण केंद्र
दरअसल नियमों के मुताबिक अभी टीकाकरण केंद्र केवल अस्पतालों या डिस्पेंसरी में ही बनाए जा सकते हैं। मुख्यमंत्री ने पीएम को लिखा कि तीन महीने से टीकाकरण चल रहा है और साफ हो गया है कि वैक्सीन सुरक्षित है। ऐसे में अब इस शर्त को हटाकर स्कूलों, सामुदायिक भवनों और अन्य स्थानों पर बड़े स्तर पर टीकाकरण केंद्र बनाने की इजाजत देनी चाहिए। सरकार इन केंद्रों पर सभी जरूरी उपाय करेगी।

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.