नई दिल्ली
दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार ने कहा है कि बजट सेशन के दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा विधानसभा में यह कहना कि कांग्रेस ने दिल्ली में 500 झंडे लगाने का विरोध किया है, सरासर झूठ है। वह साबित करें कि कांग्रेस द्वारा यह कब और कहां कहा गया। नहीं साबित कर सकें तो इस्तीफा दें। अनिल कुमार ने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा राष्ट्रीय झंडे का सम्मान किया है और राष्ट्रीय ध्वज के लिए बलिदान देकर देशवासियों को स्वतंत्रता भारत की सौगात दिलाई।

अनिल कुमार ने विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल से अपील की कि दिल्ली विधानसभा की पवित्रता और गरिमा बरकरार रखते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के कांग्रेस पर लगाए गए बयान को रिकॉर्ड से निकाल दें और सदन के पटल पर अशोभनीय भाषा का प्रयोग करने के लिए उन्हें दंडित किया जाए। कांग्रेस नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री बीजेपी की तरह राजनीतिक अवसर सार्थक बनाने के लिए धर्म की ठेकेदारी बंद करें। उन्होंने कहा कि भगवान राम किसी एक के नहीं हैं, बल्कि पूरी दुनिया के हैं।

अनिल चौधरी ने कहा कि आम आदमी पार्टी के मुखिया द्वारा दिल्ली सरकार द्वारा बुजुर्गों को अयोध्या में भगवान राम मंदिर बनने पर दर्शन कराने को कांग्रेस के दूरगामी सपने दिखाने वाले वक्तव्य पर आपत्ति जताई। अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली सरकार का वर्तमान बजट में दिल्लीवासियों के लिए कोई भविष्य की योजनाएं नहीं हैं। दिल्ली का बजट दिल्लीवासियों के भविष्य के लिए खोखला और बेबुनियाद है। उन्होंने कहा कि चांदनी चौक में हनुमान मंदिर का मामला हो या अयोध्या का भगवान राम मंदिर के बुजुर्गों को दर्शन कराने का मामला हो, बीजेपी और आम आदमी पार्टी राजनीति करने का कोई मौका नहीं छोड़ती है। जबकि चांदनी चौक में प्राचीन मंदिर को रातों रात तोड़ने में दोनों पार्टियां शामिल थीं, जिसके कारण दिल्लीवासियों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची।

दिल्ली: सिसोदिया ने पेश किया 69000 करोड़ का ‘देशभक्ति’ बजट

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.