डिजिटल डेस्क, वॉशिंगटन। अफगानिस्तान से सेना की वापसी के बाद बुधवार को अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने देश को संबोधित किया। इस दौरान जो बाइडेन ने कहा कि अफगानिस्तान में हमारा मिशन कामयाब रहा। उन्होंने कहा काबुल छोड़ने के अलावा दूसरा विकल्प नहीं था। हम अमेरिका को पूरी तरह सुरक्षित रखना चाहते हैं। मानवाधिकार के लिए लड़ते रहेंगे।

बाइडेन ने कहा, हमने अफगानिस्तान में 20 साल तक शांति बनाए रखी। हमने जो कार्य किया है वह कोई और नहीं कर सकता था। हमने तालिबान की मौजूदगी के बावजूद जो लोग निकलना चाहते थे, उनको वहां से निकाला है। 1 लाख 25 हजार लोगों को वहां से निकाला गया है। 100 से 200 अमेरिकी नागरिक वहां मौजूद है। जो भी अमेरिकी वापस आना चाहेंगे हम उन्हें लेकर आएंगे।

बाइडेन ने कहा कि हम अफगान गठबंधन के साथ मिलकर काम करना चाहेंगे। अब तालिबान के पास अफगानिस्तान की सत्ता है। वहां अब हजारों लोगों को नहीं भेजा जा सकता। अफगानिस्तान की जमीन का हमारे या किसी और देश के खिलाफ आतंकियों के लिए जमीन का इस्तेमाल न किया जाए। हम दुनिया को सुरक्षित रखना चाहते हैं। सोमालिया और अन्य देशों की स्थिति आपने देखी है। उन्होंने अफगानिस्तान से निकलने को रणनीति का हिस्सा बताया।

वहीं उन्होंने कहा कि तालिबान की मिलिट्री ताकत वहां मजबूत है। उन्होंने कहा, हमारी विदेश नीति देशहित में होनी चाहिए। हमारे मूल सिद्धांत अमेरिका के मुताबिक होने चाहिए। प्रजातांत्रिक तरीके से चीजों को आगे बढ़ाना चाहिए।

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.