विस, नई दिल्ली: दिल्ली के पूर्व मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से हुई कथित मारपीट के मामले में कोर्ट के आदेश पर प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी ने कहा है कि इस मामले में अब तो कोर्ट ने भी यह कह दिया है कि आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान और प्रकाश जरवाल दोषी हैं और इसलिए उनके खिजाफ आरोप तय किए गए हैं। मगर इसके बावजूद उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया इन दोनों विधायकों का इस्तीफा लेने की जगह उनकी तारीफों के पुल बांध रहे हैं।

Assault on chief secretary: कोर्ट के फैसले को अरविंद केजरीवाल ने बताया सत्य की जीत
दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि यह बहुत निराशाजनक है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सामने मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ उनके विधायक मारपीट करते रहे और उन्हें धमकाते रहे, लेकिन मुख्यमंत्री मूकदर्शक बनकर बैठे रहे। जब अदालत खुद दोनों ‘आप’ विधायकों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 186, 353 और अन्य संबंधित धाराओं के तहत आरोप तय करते हुए मुकदमा चलाने और चार्जशीट दाखिल करने को कह चुकी है, तो उसके बावजूद इन दोनों आरोपियों का महिमामंडल करना शर्मनाक है। अदालत के फैसले के बाद विधायकों के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय आम आदमी पार्टी के नेता उनका बचाव करते हुए उनके साथ खड़े नजर आ रहे हैं।

मुख्‍य सचिव से मारपीट: केजरीवाल, सिसोदिया समेत 9 विधायक बरी, अमानतुल्‍लाह और जरवाल पर आरोप तय

bjp_flag_pti_0_1200x768.

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.