विशेष संवाददाता, नई दिल्ली
बीजेपी और कांग्रेस के कई नेता सोमवार को आप में शामिल हुए, जिनमें बीजेपी के दो वर्तमान पार्षद भी शामिल हैं। बीजेपी पार्षद पूनम पवन सहरावत और सविता नरेश खत्री के अलावा कांग्रेस के पूर्व विधानसभा प्रत्याशी सुरेश कुमार, कांग्रेस के जिला अध्यक्ष प्रदीप शर्मा अपने सर्मथकों के साथ आप में शामिल हुए।

आप के मुख्य प्रवक्ता और विधायक सौरभ भारद्वाज, जनकपुरी विधायक राजेश ऋषि, नरेला विधायक शरद चौहान, बवाना विधायक जय भगवान उपकार और मादीपुर विधायक गिरीश सोनी की मौजूदगी में बीजेपी- कांग्रेस के नेता पार्टी में शामिल हुए।

2024 का चुनाव है लक्ष्य, राजनीतिक लड़ाई लड़नी होगी… विपक्षी नेताओं से बोलीं सोनिया
सौरभ भारद्वाज ने इन नेताओं का पार्टी में स्वागत करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़कों और ढांचागत विकास पर बहुत काम कर रही है। इसके बावजूद कॉलोनियों के अंदर विकास की कमी महसूस होती है। एमसीडी की जहां-जहां काम करने की जिम्मेदारी है, वहां पर लोग बहुत दुखी हैं। एमसीडी अपनी जिम्मेदारी नहीं निभा रही है। उन्होंने कहा कि एमसीडी में आप की सरकार बनने के बाद दिल्ली का नक्शा अगले पांच सालों के अंदर बदल जाएगा।

सौरभ भारद्वाज ने बताया कि बवाना के 29-एन वॉर्ड से बीजेपी की वर्तमान पार्षद पूनम पवन सहरावत और नरेला स्थित 1-एन वॉर्ड से बीजेपी की वर्तमान पार्षद सविता नरेश खत्री आप में शामिल हुई हैं। इसके अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुरेश कुमार भी पार्टी में शामिल हुए हैं। कांग्रेस से सुरेश कुमार 2015 में विधायक का चुनाव और 2017 में पार्षद का चुनाव लड़ चुके हैं। वह कांग्रेस के जनक पुरी व्यापार मंडल के अध्यक्ष भी रहे हैं। मादीपुर विधानसभा की तिलक नगर कांग्रेस कमिटी के जिला अध्यक्ष प्रदीप शर्मा भी पार्टी में शामिल हुए। प्रदीप शर्मा रघुवीर नगर से पार्षद भी रहे हैं।

प्रणीति या वर्षा हो सकती हैं महिला कांग्रेस की नई राष्ट्रीय अध्यक्ष!
आप नेता ने कहा कि जिस गति से दिल्ली में काम होना चाहिए उस गति से काम नहीं हो पा रहा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के अंदर माहौल बना हुआ है कि इस बार एमसीडी में आप को लाना है। कांग्रेस-बीजेपी में जो अच्छे लोग हैं वह चाहते हैं कि मुख्यमंत्री और विधायक के साथ मिलकर उनके क्षेत्र के अंदर अच्छे काम होने चाहिए।

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.