डिजिटल डेस्क, कोलकाता। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव हारने के बाद अब बीजेपी का संगठन कमजोर होता दिख रहा है। मुकुल रॉय जैसे दिग्गज नेता की तृणमूल कांग्रेस में वापसी के बाद आज शुक्रवार को बीरभूम जिले के सैंथिया इलाके में 350 बीजेपी कार्यकर्ता घर वापसी करते हुए तृणमूल में शामिल हो गए। सभी कार्यकर्ताओं पर गंगाजल छिड़का, उन्हें ‘शुद्ध’ किया, फिर पार्टी की सदस्यता दी।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक चुनाव से पहले बीजेपी में शामिल हुए 350 कार्यकर्ताओं ने टीएमसी कार्यालय के बाहर धरना दिया। कार्यकर्ताओं का कहना था कि उन्होंने बीजेपी में शामिल होकर गलती की और वह तृणमूल में वापसी करना चाहते हैं। करीब 4 घंटे तक चले धरने के बाद टीएमसी पंचायत प्रधान ने सभी कार्यकर्ताओं पर गंगाजल छिड़का और फिर पार्टी की सदस्यता दी।

इससे पहले पश्चिम बंगाल की कृष्णानगर दक्षिण विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक मुकुल रॉय शुक्रवार (11 जून 2021) को टीएमसी में शामिल हो गए थे। टीएमसी में वापसी से पहले उनकी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से और अन्य नेताओं के साथ उनकी बंद कमरे में चर्चा हुई थी। इसके बाद ममता बनर्जी ने उनकी घर वापसी का औपचारिक ऐलान किया था। इस मौके पर ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी भी मौजूद रहे। मुकुल रॉय 4 साल पहले बीजेपी में शामिल हुए थे।

घर वापसी के बपाद रॉय ने भाजपा के उन लोगों से संपर्क करना शुरू कर दिया है जो तृणमूल से गए थे और उन लोगों के साथ भी जिनके साथ उन्होंने अपने चार साल के भाजपा कार्यकाल के दौरान संबंध बनाए।  अपने पिता के साथ भाजपा से तृणमूल में लौटे रॉय के बेटे सुभ्रांगसू ने कहा, ‘लगभग 25-30 भाजपा विधायक तृणमूल में शामिल हो सकते हैं। भाजपा के दो सांसद भी तृणमूल में शामिल होने के इच्छुक हैं। 

बीते दिनों सांसद सुनील मंडल का भी एक बयान सामने आया था। सुनील मंडल ने कहा था, टीएमसी छोड़कर बीजेपी में शामिल होने वालों में से कई नेता यहां असहज महसूस कर रहे हैं। उन्हें पार्टी में दिल से स्वीकार नहीं किया गया है। कुछ लोग सोचते हैं कि पार्टी में नए लोगों पर भरोसा करना सही नहीं है।

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.