डिजिटल डेस्क, लंदन। ब्रिटेन में बीते 24 घंटे में कोरोनोवायरस के 29,173 मामले दर्ज किए गए हैं, जिससे देश में मामलों की कुल संख्या बढ़कर 7,226,276 हो गई है। रविवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोनावायरस के कारण 56 अन्य लोगों की मौत हो गईं है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, ब्रिटेन में अब कोरोनावायरस से होने वाली मौतों की कुल संख्या बढ़कर 134,200 हो गई है। इन आंकड़ों में केवल उन लोगों की मौतें शामिल है, जिनकी मृत्यु उनके पहले पॉजिटिव परीक्षण के 28 दिनों के भीतर हुई। नवीनतम डेटा के रूप में ब्रिटिश ऑफिस फॉर नेशनल स्टैटिस्टिक्स (ओएनएस) ने दिखाया कि कोरोनोवायरस संक्रमण दर इंग्लैंड में स्थिर बनी हुई है, लेकिन वेल्स और स्कॉटलैंड में बढ़ी है।

स्कॉटलैंड में कोरोना मामलो की दरें आसमान छू रही हैं, जहां स्कूल देश के बाकी हिस्सों की तुलना में सबसे पहले खोले गए और ऐसी आशंका है कि बच्चों की स्कूलों में वापसी ब्रिटेन के बाकी क्षेत्रों में संक्रमण को बढ़ा सकती है। इस बीच, मेडिसिन एंड हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी (एमएचआरए) ने फाइजर और एस्ट्राजेनेका को कोविड -19 बूस्टर टीके के रूप में इस्तेमाल करने की मंजूरी दे दी है। एमएचआरए के कार्यकारी, प्रमुख डॉ जून राइन ने कहा , हम जानते हैं कि किसी व्यक्ति की प्रतिरक्षा उनके पहले वैक्सीन कोर्स के बाद समय के साथ कम हो सकती है। मुझे यह पुष्टि करते हुए खुशी हो रही है कि फाइजर और एस्ट्राजेनेका वैक्सीन को कोविड -19 के लिए सुरक्षित और प्रभावी बूस्टर खुराक के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

यह एक महत्वपूर्ण नियामक परिवर्तन है क्योंकि यह टीकाकरण कार्यक्रम के लिए और विकल्प देगा, जिसने अब तक हजारों लोगों की जान बचाई है। नवीनतम आंकड़ों से पता चला है कि ब्रिटेन में 16 वर्ष और उससे ज्यादा आयु के 89 प्रतिशत से ज्यादा लोगों को टीके की पहली खुराक मिली है और 80 प्रतिशत से अधिक लोगों ने दोनों खुराक ली हैं।

(आईएएनएस)

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.