विस, नई दिल्ली : सड़कों से लेकर अस्पतालों तक और स्कूलों से लेकर सरकारी दफ्तरों तक हर जगह तैनात नजर आने वाले के खिलाफ बढ़ती लोगों की शिकायतों को लेकर बीजेपी ने दिल्ली के उप-राज्यपाल को पत्र लिखा है। प्रदेश अध्यक्ष ने सिविल डिफेंस वॉलंटियर्स को लेकर जनता की बढ़ती शिकायतों की ओर एलजी का ध्यान आकृष्ट करते हुए मांग की है कि अभी तक सिविल डिफेंस में जितने भी वॉलंटियर्स की भर्ती की गई है, उन सबके बैकग्राउंड की जांच कराई जाए। साथ ही इन वॉलंटियर्स की वर्दी का रंग भी बदलने की मांग की गई है, क्योंकि इनकी खाकी वर्दी काफी हद तक पुलिस की वर्दी की तरह नजर आती है।

पत्र में आदेश गुप्ता ने कहा है कि पिछले दो साल के दौरान दिल्ली सरकार ने हजारों सिविल डिफेंस वॉलंटियर्स का रजिस्ट्रेशन किया है, जिन्हें बड़ा अच्छा पारिश्रमिक भी दिया जा रहा है। जहां एक ओर इन वॉलंटियर्स के सत्ताधारी दल से जुड़े होने की शिकायतों की चर्चा है, तो वहीं इनके व्यवहार को लेकर भी लगातार कई शिकायतें मिल रही हैं। आदेश गुप्ता ने उप-राज्यपाल से कहा है कि यह चर्चा आम है कि सिविल डिफेंस में भर्ती किए जा रहे अधिकांश वॉलंटियर्स की शिक्षा का स्तर भी बहुत कमजोर है और इनकी चारित्रिक पृष्ठभूमि भी साफ नहीं है।

ऐसा माना जाता है की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी से जुड़े तमाम कार्यकर्ताओं को आर्थिक रूप से सक्षम बनाने के लिए उन्हें सिविल डिफेंस की वर्दी पहनाई जा रही है। सिविल डिफेंस वॉलंटियर्स की भर्ती प्रक्रिया भी बिल्कुल पारदर्शी नहीं। किस आधार पर कब किसे भर्ती किया जाता है, इसके बारे में किसी को कुछ पता नहीं है, इसलिए इस भर्ती प्रक्रिया की पूरी जांच होनी चाहिए। गुप्ता का आरोप है कि पिछले एक साल के दौरान सिविल डिफेंस वॉलंटियर्स के द्वारा कोविड नियमों के उल्लंघन से जुड़े चालान काटने की आड़ में लोगों से लूटखसोट करने और उन्हें धमकाने की शिकायतें भी लगातार सुनने को मिल रही है।

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.