विशेष संवाददाता, नई दिल्ली
दिल्ली सरकार ने बीजेपी पर आरोप लगाया है कि बीजेपी प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीनेशन के जरिए मोटा कमिशन कमा रही है। रविवार को आप एमएलए आतिशी ने कहा, इस वैक्सीन घोटाले का सबूत कर्नाटक से बीजेपी सांसद तेजस्वी सूर्या और विधायक रवि सुब्रमण्या से जुड़ी एक प्राइवेट अस्पताल के कॉल रेकॉर्ड में सामने आया है। उन्होंने बताया कि कॉल रेकॉर्ड में अस्पताल से कोई फोन पर कह रहा है कि हम महंगी वैक्सीन इसलिए लगा रहे हैं, क्योंकि हमें विधायक के कार्यालय को कमिशन देना पड़ता है। आतिशी ने कहा कि प्रधानमंत्री ‘आपदा में अवसर’ की बात करते हैं और बीजेपी ने इस आपदा में वैक्सीन घोटाले का अवसर ढूंढा है। वैक्सीन घोटाले में लिप्त होना, लोगों की जान से खिलवाड़ करना है। अब बीजेपी का वैक्सीन घोटाला सिर्फ प्राइवेट अस्पतालों तक ही सीमित नहीं है, बल्कि 5 सितारा होटल तक जा रहा है, जो महंगे दामों पर वैक्सीन पैकेज दे रहे हैं।

एक हफ्ता पूरा, अभी तक युवाओं का वैक्सीनेशन बंद
आतिशी ने रविवार को डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि वैक्सीन की कमी की समस्या अकेले दिल्ली सरकार की नहीं है, बल्कि बाकी राज्य सरकारों को भी युवाओं के लिए चलाए जा रहे वैक्सीनेशन सेंटर बंद करने पड़ रहे हैं। आज के दिन युवाओं के लिए वैक्सीन की डोज सिर्फ महंगे प्राइवेट अस्पतालों में उपलब्ध है। अब तो महंगे-महंगे फाइव स्टार होटल दो-दो दिन के वैक्सीन पैकेज ऑफर कर रहे हैं। जो युवा हजारों रुपये खर्च कर सकता है, उसके लिए वैक्सीन है, लेकिन सरकारों के पास फ्री वैक्सीनेशन के लिए वैक्सीन नहीं हैं। उन्होंने कहा, प्राइवेट अस्पतालों और होटलों से बीजेपी की कैसी सांठगांठ है? वैक्सीन बनाने वाली दोनों कंपनियां से केंद्र सरकार की क्या साठगांठ है कि सिर्फ भारत ही ऐसा देश है, जहां फाइजर, मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन को मंजूरी नहीं दी गई है।

Vaccination in Delhi: अस्पतालों में सुविधा के हिसाब से वैक्सीन के अलग-अलग दाम
उन्होंने कहा कि इस वैक्सीन घोटाले का, बीजेपी और प्राइवेट अस्पतालों के बीच सांठगांठ का एक और उदाहरण कर्नाटक में सामने आया है। यहां बीजेपी के सांसद तेजस्वी सूर्या और उनके रिश्तेदार विधायक रवि सुब्रमण्या से संबंधित एक रिकॉर्डिंग सामने आई है। इसमें एक प्राइवेट अस्पताल फोन पर बोल रहा है कि हम तो महंगी वैक्सीन इसलिए लगा रहे हैं, क्योंकि हमें विधायक के कार्यालय को कमिशन देना पड़ता है। वैक्सीन लगवाने के लिए उन्हें जो कॉल कर रहे हैं, उनको यह कहा जा रहा है कि आप विधायक या सांसद के कार्यालय से रजिस्ट्रेशन करवा लीजिए। इस दौरान एक और प्राइवेट अस्पताल का नाम लेते हैं कि वहां से आप रजिस्ट्रेशन करा लीजिए, तभी हम आपको वैक्सीन लगवा पाएंगे। आतिशी ने कहा, वैक्सीन 900 रुपये में क्यों लग रही है? क्यों अस्पताल कहता है कि हमें बीजेपी के विधायक और सांसद को कमिशन देना पड़ रहा है। साथ ही, जिस प्राइवेट अस्पताल में महंगे दामों पर वैक्सीन लग रही हैं, उसी के पोस्टर तेजस्वी सूर्या और रवि सुब्रमण्या भी लगवा रहे हैं और वे अब प्राइवेट अस्पताल को प्रमोट कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि क्या अब हम यह मान लें कि जो सस्ते दामों पर वैक्सीन अलग-अलग राज्य सरकारों को मिलनी था, वह अब बीजेपी के नेताओं के जरिए प्राइवेट अस्पतालों में जा रही है?

vaccine-center-delhi1

दिल्ली में वैक्सीन सेंटर

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.