विशेष संवाददाता, नई दिल्ली
दिल्ली सरकार ने कोरोना की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर तैयारियां तेज कर दी हैं और विशेष टास्क फोर्स बनाने का फैसला किया है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को दिल्ली सचिवालय में एक उच्चस्तरीय बैठक की और तैयारियों को लेकर महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश दिए। बैठक में उपमुख्यमंत्री और मुख्य सचिव समेत स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

केजरीवाल ने कहा कि अगर तीसरी लहर आती है, तो उससे लड़ने के लिए हमें पहले से ही तैयार रहना होगा। बच्चों को बचाने के लिए विशेष टास्क फोर्स का गठन किया जाएगा। अस्पतालों में बेड, ऑक्सिजन, और दवाओं का पहले से ही प्रबंध करना होगा, इसके लिए अधिकारियों की एक कमिटी बनाई जाएगी। अस्पतालों में ऑक्सिजन की आपूर्ति और उसकी उपलब्धता को लेकर प्राथमिकता के आधार पर कार्य किया जाएगा। सीएम ने निर्देश दिए कि दिल्ली में लगाए जा रहे सभी ऑक्सिजन प्लांट्स को समय से पूरा किया जाए और भंडारण की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए।

बुधवार को हुई उच्चस्तरीय बैठक में विचार-विमर्श किया गया कि तीसरी लहर के दौरान दिल्ली में अधिकतम कितने केस आने की आशंका है और उसके लिए कितने बेड की आवश्यकता पड़ेगी? अधिकारियों ने एक अनुमानित आकलन के अनुसार बताया कि तीसरी लहर के दौरान करीब 40 हजार बेड की जरूरत पड़ सकती है। इन 40 हजार बेड में से करीब 10 हजार आईसीयू बेड होने चाहिए।

विशेष टास्क फोर्स
बैठक में फैसला लिया गया है कि संभावित तीसरी लहर को लेकर विशेष टास्क फोर्स का गठन किया जाएगा। इस टास्क फोर्स में वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के अलावा अलग-अलग क्षेत्रों के विशेषज्ञ शामिल होंगे। यह टास्क फोर्स बच्चों पर कोरोना का क्या असर होगा, उस प्रभाव को कैसे कम किया जा सकेगा और बच्चों को इससे कैसे बचाया जा सकेगा, समेत अन्य पहलुओं पर गौर करेगी और उसके मुताबिक उचित फैसले लेगी। ऑक्सिजन और दवाओं के प्रबंधन पर भी विस्तार से चर्चा हुई। इसपर जोर दिया गया कि किसी भी हालत में ऑक्सिजन की कालाबाजारी न होने पाए। कालाबाजारी को रोकने के लिए कड़े कदम उठाए जाएंगे। इस पर निगरानी रखने के लिए अधिकारियों की एक कमिटी बनाई जाएगी।

ऑक्सिजन की नहीं होगी कमी
सीएम ने कहा कि अगर हम बड़े पैमाने पर बेड्स बढ़ाएंगे, तो उसके लिए बड़ी मात्रा में ऑक्सिजन की भी जरूरत पड़ेगी। इसके लिए दिल्ली सरकार पहले से ही ऑक्सिजन टैंकर खरीद कर रखेगी और बड़ी संख्या में ऑक्सिजन सिलिंडर भी खरीदे जाएंगे, ताकि अलग-अलग अस्पतालों में ऑक्सिजन पहुंचाने में कोई समस्या न आए। सीएम ने यह भी निर्देश दिए कि विभिन्न अस्पतालों में जो ऑक्सिजन के प्लांट लगाए जा रहे हैं, उनको भी समय पर पूरा किया जाए।

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.