Dainik Bhaskar Hindi – bhaskarhindi.com, लंदन। दक्षिण अमेरिका में पाए जाने वाले लामास यानी ऊंट के शरीर में बनने वाला एक अद्वितीय प्रकार का छोटा एंटीबॉडी कोविड-19 के एक नए तरीके से उपचार में अग्रणी भूमिका निभा सकता है। उपचार के लिए मरीज इंजेक्शन के बजाय इसे नाक में स्प्रे के रूप में ले सकते हैं। यूके में रोजालिंड फ्रैंकलिन इंस्टीट्यूट

.Download Dainik Bhaskar Hindi App for Latest Hindi News

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.