उन्नाव (उत्तर प्रदेश), 17 जून। भारतीय जनता पार्टी के सांसद साक्षी महाराज ने कहा है कि जो लोग राम मंदिर निर्माण में भ्रष्टाचार के आरोप लगा रहे हैं, वे रसीद दिखाकर अपना चंदा वापस ले लें। उन्होंने बुधवार को यहां संवाददाताओं से कहा कि जो नेता अब आरोप लगा रहे हैं, वे वही हैं जिन्होंने पूर्व में राम भक्तों पर गोलियां चलाई थीं।

उन्होंने कहा, उन्होंने कहा था कि वे बाबरी मस्जिद के पास एक पक्षी को भी नहीं जाने देंगे। उनके दंभ का करारा जवाब दिया गया है और राम जन्मभूमि स्थल पर एक भव्य मंदिर बन रहा है। ऐसे लोगों के पास निराधार आरोप लगाने के अलावा और कुछ नहीं है।

साक्षी महाराज ने कहा कि जहां तक चंपत राय की बात है तो उन्होंने अपना पूरा जीवन भगवान राम को समर्पित कर दिया है। उन्होंने कहा, ऐसे व्यक्ति पर आरोप लगाना सही नहीं है। फिर भी, यदि आप के संजय सिंह ने राम मंदिर के लिए कुछ दान किया है, तो वह रसीद दिखाकर अपना दान वापस ले सकते हैं। अखिलेश यादव ने दान दिया है, तो वह अपना दान वापस ले सकते हैं। ये वही लोग हैं जिन्होंने राम मंदिर का कड़ा विरोध किया था।

क्या है मामला?

साक्षी महाराज जिस मामले पर भड़के हैं वो राम मंदिर ट्रस्ट से जुड़ा है। जिस पर तयशुदा दामों से ज्यादा रेट पर जमीन खरीदने का आरोप है। पिछले कुछ दिनों से ये मामला गर्माया हुआ है। सबसे ज्यादा निशाने पर अब तक चंपत राय ही हैं। अब इसी पर साक्षी महाराज ने अपने अंदाज में सलाह दी है, साथ ही चंपत राय का बचाव भी किया है।

Source link

Bulandaawaj
Author: Bulandaawaj

Leave a Reply

Your email address will not be published.